Breaking News

पद्म पुरस्कार के लिए खुद को योग्य नहीं मान रहे आनंद महिन्द्रा,जानें क्यों

देश में बड़ी और जानी-मानी हस्तियों केयर जमीन से जुड़े कई साधारण लोगों को भी पदम पुरस्कार मिले हैं और इस हाल पदम पुरस्कार पाने वालों की सूची में जहां एक और अरुण जेटली, सुषमा स्वराज, जार्ज फर्नांडीस, कंगना रनौत, आनंद महिंद्रा जैसी नामी हस्तियां रही है तो वहीं दूसरी ओर संतरा बेचने वाले हरेकला हजब्बा, साइकिल बनाने वाले मोहम्मद शरीफ, अब्दुल जब्बार खान, लीला जोशो, तुलसी गौड़ा, राहीबाई सोमा पोपेरे जैसे असाधारण काम करने वाले आम लोग भी शामिल रहे!

वहीं ऐसे में महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा भी इस साल पदम पुरस्कार पाने वालों की सूची में शामिल रहे हैं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सोमवार को उनको पदम भूषण से सम्मानित किया है वहीं इस महत्वपूर्ण और गौरवशाली सम्मान को पाने के बाद भी आनंद महिंद्रा खुद को इसके लिए योग्य नहीं मान रहे हैं उन्होंने यह बात एक ट्वीट के माध्यम से कहे हैं और इसी ट्वीट में यही बताया है कि वह ऐसा क्यों मानते हैं!

आनंद महिंद्रा ने ट्वीट कर कहा है कि इस सरकार ने पदम सरकार प्राप्त कर्ताओं की प्रकृति को लेकर लंबे समय से लंबित परिवर्तनकारी बदलाव किया है अब जमीनी स्तर पर समाज के सुधार में मूली योगदान देने वाले व्यक्तियों पर मुख्य रुप से ध्यान केंद्रित किया जाता है मैं वास्तव में उनकी श्रेणी में शामिल होने के लिए योग्य महसूस नहीं कर रहा था!

वही अपने ट्वीट में महिंद्रा ग्रुप के मालिक आनंद महिंद्रा ने तुलसी घोड़ा को पदम पुरस्कार मिलने की तस्वीर भी शेयर की है राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कर्नाटक पर्यावरणविद तुलसी घोड़ा को सामाजिक कार्य के लिए प्रदान किया है उन्होंने 30,000 अधिक पौधे और पिछले 3 दशकों से पर्यावरण संरक्षण गतिविधियों में शामिल है!

About appearnews

Check Also

प्रियंका चोपड़ा की एक गलती के कारण होना पढ़ा था शर्मिंदा, लोगों ने किया जमकर ट्रोल…

प्रियंका चोपड़ा को आज के समय में किसी की पहचान की जरूरत नहीं है उन्होंने …