Breaking News

एशिया की सबसे अमीर महिला नीता और मुकेश अंबानी ही नहीं, बिड़ला बिजनेसमैन की लव स्टोरी भी है बेहद दिलचस्प…..

आप ने बॉलीवुड स्टार्स की कई सारी प्रेम कहानियां सुनी होगी, जो कि हमें बेहद पसंद आती है। लेकिन कभी आपने बिजनेस फैमिली की प्रेम कहानियां सुनी है? हम जानते है कि आपका जवाब ना ही होगा।

आप जानकर हैरान हो जाएंगे लेकिन बता दें कि देश के बडे बिजनेसमैन अपने काम काम नहीं बल्कि अपनी लव स्टोरीज के लिए भी मशहूर है। लेकिन हम अक्सर इन परिवारों की सफलता की बातें करते है।

इन परिवारों की प्रेमकहानी देखकर यही लगता है कि ये बिल्कुल आम परिवारों की तरह ही है। इनकी जिंदगी फिल्मी कहानी से कम नहीं है। ऐसे में आज हम आप को इस आर्टिकल में बिजनेसमैन की लवस्टोरीज के बारे में बताने जा रहे है। तो आइए इस खबर के बारे में विस्तार से जानते है।

1. मुकेश अंबानी और नीता अंबानी

जानकारी के अनुसार बता दें कि मुकेश अंबानी और नीता अंबानी की लव स्टोरी एक शादी के प्रपोजल से शुरु हुई थी। एक नृत्य प्रतियोगिता के दौरान धीरुभाई अंबानी और कोकिलाबेन अंबाली एक मुख्य अतिथि के रुप में गए थे। वहां नीता नृत्य कर रही थी।

 

खूबसुरत नीता अंबानी को उनके ससुराल वालों ने अपने बेटे के लिए चुन रखा था। ऐसे में जब धीरुभाई नीता के घर कॉल करते है तो नीता को लगता है कि कोई मजाक कर रहा है। लेकिन अपने पिता के समझाने पर वह धीरुभाई से बात करती है।

जिसके बाद नीता और मुकेश की मुलाकात होती है। मुकेश नीता को देखकर ही पहली नजर में पसंद करने लगते है। इनकी लव स्टोरी यहां ही नहीं रुकी। मुकेश अंबानी ने नीता अंबानी को ट्रैफिक सिग्नल पर बडे फिल्मी अंदाज में प्रपोज किया था। उन्होंने नीता से कहा कि अगर वह जवाब नहीं देगी तो वह गाडी आगे नहीं बढाएंगे।

2. नारायण मूर्ति और सुधा मूर्ति

जब भी लवस्टोरीज की बात आती है तो नारायण मूर्ति और सुधा मूर्ति की कहानी कौन भूल सकता है। सुधा और नारायण की मुलाकात कॉलेज समय के दौरान होती है। जब नारायण सुधा को पसंद करते है तब नारायण की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी।

वह अक्सर उधार लेकर सुधा पर पैसे खर्च करते थे। जिसके बाद सुधा ने नारायण मूर्ति को अपने पिता से मिलवाया, पर वह खुश नहीं हुए। इसके बाद जब नारायण को नौकरी मिली तो नारायण मान गए। नारायण मूर्ति ने अपने अलग ही अंदाज में सुधा को प्रपोज किया था।

 

खबरों के मुताबिक उन्होंने कहा था कि, ‘मेरी हाइट 5 फीट 4 इंच है। मैं मध्य्मवर्गी परिवार का लडका हूं। मैं जवीन में कभी अमीर नहीं बनूंगा। तुम सुंदर हो, तुम चतुर हो। तुम जो चाहे वो ले सकते हो, लेकिन क्या तुम मुझसे शादी करोगी?’

सुधा को नारायण की ये बातें खूब पसंद आई। सुधा ने नारायण से कहा कि तुम अपने सपनों का पीछा करो और पैसे की चिंता करना छोड दो। जिसके बाद आखिर में दोनों ने शादी कर ली। इनकी लवस्टोरी भी अलग ही मिसाल है।

3. कुमार मंगलम बिडला और नीरजा बिडला

कई कहानियां शादी से शुरु होती है। कुमार मंगलम बिडला और नीरजा बिडला के साथ भी यही हुआ। एक इंटरव्यू में नीरजा बिडला ने बताया कि 18 साल की उम्र में शादी करने को लेकर वह काफी नर्वस थी। जब उन्हें शादी के मंच पर ले जाया जा रहा था।

ऐसे में वे काफी डरी हुई थी। उस वक्त मंगलम बिडला की उम्र महज 22 साल की थई। वे भी नर्वस होकर शादी में पहुंचे थए। शादी से पहले दोनों काफी कम बार मिले और शादी कर दी गई। ऐसे में शादी के बाद ही उन्हें आपस में एकदूसरे को जानने का मौका मिला। वहीं कुमार को क्रिकेट प्यारा था।

 

लेकिन अपने व्यापारिक साम्राज्य के चलते इसे छोडना पडा। नीरजा बिडला और कुमार मंगलम बिडला की कहानी अरेंज्ड मैरिज से शुरु हुई थी। माता-पिता ने दोनों के रिश्ते को तय किया था। उस समय कुमार ने स्नातक किया था।

शादी के तुरंत वे दोनों लंदन चले गए, वहां कुमार ने लंदन में एमबीए की पढाई की थी। इंटरव्यू में नीरजा ने बताया कि वह कुमार से इतना प्रभावित थी कि वह कुमार के सारे कॉलेज के असाइनमेंट खुद से लिखकर देती थी। नीरजा बिडला ने कुमार मंगलम बिडला को हर मोड पर साथ दिया।

4. आदि गोदरेज और परमेश्वर गोदरेज

बता दें कि जब आदि और परमेश्वर गोदरेज एकदूसरे से मिले थे। तब आदि की उम्र 21 साल की और परमेश्वर 17 के थे। परमेश्वर गोदरेज ने स्वामी आदि गोदरेज से एक विमान में मुलाकात की थी। वह दौरा कुछ और ही था।

तब परमेश्वर भारत की पहली एयर हॉस्टेस में से एक थी। परमेश्वर ने एयर इंडिया में होस्टेस के काम की शुरुआत 1945 में की थी। यह एक ऐसा समय था, जब सोशलाइट की तुलना में एक एयर होस्टेस के जीवन को अलग तरह से देखा जाता था। जिसके बाद 1945 में परमेश्वर ने आदि से शादी।

 

वह सूर्खियों में रहने वाली भारत की पहली सोशलाइट थी। वे फैशन डिजाइनर से लेकर गोदरेज के क्रिएटव हेड तक रहे है। उन्होंने हेमा मालिनी के भी कपडे डिजाइन किए है। उन्होंने सिंथॉल के लिए एक विज्ञापन बनाया, जिसमें इमरान खान भी थे।

बाद में विनोद खन्ना के साथ एक विज्ञापन भी किया था। वह हमेंशा से अपने पति के पक्ष में रहती थी। आदि और परमेश्वर ने एक दूसरे का समर्थन किया और अपना संसार स्थापित किया।

About Bittu Mali

Check Also

खरबपति है रत्न टाटा पर छोटा भाई है बहुत ही गरीब ऐसे करते है अपना गुजारा।

रतन टाटा किसी परिचय के मोहताज नहीं है। टाटा को बुलंदियों पर ले जाने का …