Breaking News

8 साल तक बच्चों का सुख नहीं मिल पाया, भगवान ने एक साथ दे दिए 4 बच्चे, ख़ुशी हो गई चार गुनी

माता-पिता बनने की खुशी दुनिया का सबसे खूबसूरत एहसास है। माता-पिता बनना हर कपल के लिए बहुत ही खूबसूरत पल होता है। शादी के बाद हर शादीशुदा जोड़ा चाहता है कि उसे जल्द से जल्द संतान सुख मिले, लेकिन अक्सर कई ऐसे मामले देखने को मिलते हैं जिनमें शादीशुदा जोड़ा जीवन भर बच्चों की खुशी के लिए दुख भोगता रहता है लेकिन उन्हें कोई संतान नहीं हो पाती है। वहीं कुछ शादीशुदा जोड़े ऐसे भी होते हैं जिन्हें बहुत जल्द संतान सुख की प्राप्ति होती है।

अगर किसी दंपत्ति को संतान नहीं होती है तो उनका दुख कोई नहीं जान सकता। संतान न होने की तड़प तो एक मां ही समझ सकती है, लेकिन एक पुरानी कहावत है कि ”ऊपर वाला जब किसी को कुछ देता है तो छत फाड़ देता है.” जी हां, ऐसा ही करिश्मा दिल्ली से सटे गाजियाबाद में देखने को मिला, जब एक महिला को 8 साल से कोई संतान नहीं थी लेकिन उसने एक साथ 4 बच्चों को जन्म दिया।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हर शादीशुदा जोड़ा बच्चा पैदा करना चाहता है, लेकिन कई बार ऐसा देखा गया है कि संतान सुख की प्राप्ति नहीं होती है। चाहे वह किसी बीमारी का कारण हो या कोई अन्य कारण, लेकिन आज के आधुनिक युग में ऐसी तकनीक विकसित हो गई है जिसकी हमने कभी कल्पना भी नहीं की होगी। आज हम आपको आईवीएफ नाम की एक तकनीक के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं, जिसके जरिए गाजियाबाद की रहने वाली एक महिला ने 4 बच्चों (एक लड़की और तीन लड़के) को जन्म दिया।

मिली जानकारी के मुताबिक पिछले कई सालों से दंपति को कोई बच्चा नहीं हो रहा था. सीड्स ऑफ इनोसेंस के निदेशक डॉ. गौरी का कहना है कि दंपति को पिछले 8 साल से कोई संतान नहीं थी, जिसके कारण मां की प्रजनन क्षमता सीमित थी, इसलिए महिला मां नहीं बन पाई। महिला ने बच्चा पैदा करने के लिए हर संभव कोशिश की। उन्होंने आईयूआई जैसी प्रजनन तकनीक का भी सहारा लिया लेकिन इसके बावजूद वह गर्भ धारण नहीं कर पा रही थीं।

गौरी अग्रवाल का कहना है कि जब महिला आईयूआई जैसी प्रजनन तकनीक से भी गर्भधारण नहीं कर पाई तो 32 साल की इस महिला के मामले में उन्होंने आईवीएफ तकनीक को चुना, जिसके बाद महिला ने गर्भ धारण किया, लेकिन जब स्कैन किया गया तो ऐसा हुआ। पाया कि उस महिला के गर्भ में एक नहीं बल्कि चार जिंदगियां पल रही थीं। 6 सप्ताह के बाद यह पुष्टि हुई कि उस महिला के गर्भ में चार भ्रूण विकसित हो रहे हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, जब महिला को पता चला कि उसके गर्भ में 4 भ्रूण हैं, तो डॉक्टर ने बाद में दंपति को भ्रूण कम करने का विकल्प दिया, लेकिन दंपति इसके लिए राजी नहीं हुए. कुछ दिनों बाद महिला ने निर्धारित समय से पहले ही 4 बच्चों को जन्म दिया। समय से पहले नवजात बच्चों के जन्म के कारण उन्हें कुछ दिनों के लिए आईसीयू में रखा गया था। जब उन बच्चों की स्वास्थ्य रिपोर्ट सही आई तो उन्हें घर भेज दिया गया। वहीं कपल का कहना है कि वे एक साथ चार बच्चों के माता-पिता बनकर बेहद खुश हैं। उनके परिवार में चौगुनी खुशियां आई हैं।

About appearnews

Check Also

प्रियंका चोपड़ा की एक गलती के कारण होना पढ़ा था शर्मिंदा, लोगों ने किया जमकर ट्रोल…

प्रियंका चोपड़ा को आज के समय में किसी की पहचान की जरूरत नहीं है उन्होंने …