Breaking News

भारत सरकार चाहती है नवाब खानदान की 300 करोड़ की जायदाद लेना, जाने

भारत सरकार रामपुर नवाब परिवार की संपत्ति से करीब 300 करोड़ रुपए की संपत्ति लेना चाहती है। इसके लिए शुक्रवार को जिला शासकीय अधिवक्ता ने जिला न्यायाधीश की अदालत में बहस की। इस मामले में अब अगली सुनवाई सोमवार को होगी.

नवाब परिवार की संपत्ति में करीब तीन सौ करोड़ की शत्रु संपत्ति है। इस पर अपने दावे का दावा करते हुए गृह मंत्रालय, शत्रु संपत्ति, भारत सरकार के सह-अभिरक्षक द्वारा एक पत्र जारी किया गया था। शुक्रवार को जिला न्यायाधीश की अदालत में जिला शासकीय अधिवक्ता राजीव अग्रवाल ने शत्रु संपत्ति पर कब्जा दिलाने की दलील दी.

उन्होंने कहा कि 1965 में ही भारत सरकार ने यह कानून बना दिया है कि अगर भारत में पाकिस्तानी नागरिकों की संपत्ति है तो उसे दुश्मन की संपत्ति कहा जाएगा और यह भारत सरकार का अधिकार होगा. नवाब परिवार के पास रामपुर में 2600 करोड़ से अधिक की संपत्ति है। इसके वितरण की प्रक्रिया चल रही है।

31 जुलाई 2019 को सुप्रीम कोर्ट ने शरीयत के हिसाब से बंटवारा करने का आदेश दिया. वितरण की जिम्मेदारी जिला जज को सौंपी गई है। नवाब परिवार की संपत्ति में कुल 18 पक्ष थे। इनमें से दो की मौ त हो चुकी है। इसका सबसे बड़ा हिस्सा पाकिस्तान के एयर चीफ मार्शल स्वर्गीय अब्दुल रहीम खान की पत्नी मेहरुन्निशा द्वारा बनाया जा रहा है।

संपत्ति में उनकी खुद की हिस्सेदारी 7.292 फीसदी है, जबकि उनकी मां तलत जमानी बेगम की 4.167 फीसदी है। माँ का दे हांत हो गया है, तो उसे भी उसका हिस्सा मिलेगा। इस तरह दोनों का 11.459 प्रतिशत मिलकर बन रहा है और इस हिस्से में करीब 300 करोड़ की संपत्ति आ रही है. मेहरुनिशा बेगम रामपुर रियासत के अंतिम नवाब रजा अली खान की बेटी हैं।

About appearnews

Check Also

अर्जुन कपूर ने सौतेली मां श्रीदेवी के मौत को सालों गुजर जाने के बाद खोला बड़ा राज, पहली बार सुनाई दर्द भरी कहानी….

अर्जुन कपूर की बात करें तो आजकल उनका नाम मलाइका अरोड़ा के साथ काफी दूर …