Breaking News

दूल्हे ने समाज को दिखाया आईना, ससुर को कहा :- दहेज के 4 करोड रुपए नही आपकी बेटी ही सबसे बड़ी दौलत है

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि इन दिनों शादियों का माहौल जोरों पर चल रहा है, आम लोगों के साथ-साथ बॉलीवुड इंडस्ट्री के कुछ सेलेब्स भी बड़ी धूमधाम से शादी कर रहे हैं. बॉलीवुड के कुछ सेलेब्रिटीज की महंगी शादियां इन दिनों सुर्खियों में हैं, जैसा कि देखा जा रहा है बॉलीवुड सेलेब्रिटीज की महंगी शादियों की चर्चा दुनियाभर में हो रही है.

लेकिन आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं जहां दहेज के लिए लड़कियों को अपनी जान कुर्बान करनी पड़ती है। हमें अक्सर सुनने को मिलता है कि ससुराल वालों ने दहेज के कारण लड़की को घर से बाहर निकाल दिया है और यही वजह है कि कई लड़कियां अपनी जान दे देती हैं और यह खबर सुनकर आप हैरान रह जाएंगे।

आज हम आपको एक बड़े मामले की जानकारी देने जा रहे हैं, यह मामला पूरे देश के सामने एक मिसाल बनकर सामने आया है. हम बात कर रहे हैं हरियाणा में एक ऐसी शादी की जिसकी जितनी तारीफ की जाए उतनी कम होगी लोग इस शादी की तारीफ करते नहीं थक रहे हैं. इस शादी से पहले दूल्हे ने अपनी कुछ मांगें रखी थीं, कहा जा रहा है कि समाज को इस तरह के मामलों पर गंभीरता से विचार करना चाहिए, आपको बता दें कि अगर आप इस शादी के बड़ों की बात सुनेंगे तो आपको ज्यादा आश्चर्य नहीं होगा जी हां, क्योंकि ये शादी महज ₹1 में पूरी हुई है।

आपने सही सुना है कि यह शादी सिर्फ ₹1 में पूरी हुई है क्योंकि इस शादी में कोई फिजूलखर्ची नहीं हुई बस दूल्हा अपने कुछ करीबी रिश्तेदारों के साथ बारात लेकर आया था और उन्होंने बिना दहेज या नकद लिए शादी कर ली। शादी के बाद उनकी शादी की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही हैं, जिसके लिए इस कपल को विदेश से खूब बधाइयां मिल रही हैं.

दरअसल, ये शादी हरियाणा के सिरसा के आदमपुर इलाके में हुई, जो पूरे समाज के लिए एक नया संदेश लेकर आई है. दूल्हे बलेंद्र ने शादी से पहले कुछ शर्त रखी थी कि उसे शादी के बाद न तो दहेज चाहिए और न ही दहेज। उसे किसी भी प्रकार का अनुष्ठान करना होता था और न ही वह किसी भी प्रकार की फिजूलखर्ची को प्रोत्साहित करता था।

इतना ही नहीं, दूल्हे ने यहां तक कह दिया कि उसने अपनी लड़की दी है, बस इतना ही, इस पर दुल्हन कांता और उसके परिवार ने भी सहमति जताई थी, पहले दुल्हन का परिवार दूल्हे को 4 करोड़ रुपये दहेज के रूप में देने वाला था। लेकिन जब दूल्हा बलेंद्र अपने कुछ रिश्तेदारों के साथ बारात लेकर आया, तो उसने उपहार के रूप में ₹1 और नारियल स्वीकार किए और फिर बिना किसी बैंडबाजे के और स्थानीय लोगों को भी इस शादी में शांति से चला गया। कहा गया है कि अगर समाज का हर परिवार इस तरह की पहल करे तो न सिर्फ स्थिति में सुधार होगा बल्कि बेटियों की शिक्षा पर भी ज्यादा ध्यान दिया जा सकता है.

जानकारी के अनुसार हमें पता चला है कि दूल्हा चुलीखुर्द गांव का रहने वाला है और उसके पिता का नाम छोटू राम खोखर और मां का नाम संतोष है, जबकि भजनलाल की बेटी कांता खैरमपुर की रहने वाली है, दूल्हा-दुल्हन उच्च शिक्षित हैं. गांव में भी शादी को लेकर कोई ढोंग नहीं था।

About appearnews

Check Also

भोजपुरी इंडस्ट्री की मोनालिसा का देसी लुक देख लोग हुए दीवाने, लहंगा चोली में किया सोशल मीडिया का पारा हाई,देखें तस्वीरें।

भोजपुरी इंडस्ट्री की ग्लैमरस अभिनेत्री की लिस्ट में नाम मोनालिसा का भी आता है जिन्होंने …