Breaking News

राजनीतिक विश्लेषक बनकर आया था मसूद हासमी, कहा कुछ ऐसा निकाला गया शो से…

मसूद हाशमी नाम के एक राजनीतिक विश्लेषक ने गुरुवार (23 सितंबर, 2021) को एक टीवी शो में दावा किया। उसने कहा कि दहेज से बचने के लिए हिंदू माता-पिता अपनी बेटियों को मुस्लिम पुरुषों के पीछे लगाते हैं। उन्होंने यह विवा दित टिप्पणी जी हिंदुस्तान पर प्रसारित होने वाले शो ‘शंखनाद’ के दौरान की। इसके बाद एंकर ने उन्हें शो छोड़ने के लिए कहा।

नीचे दिए गए टीवी शो के वीडियो में (लगभग 37 मिनट, 40 सेकंड में) आप हाशमी को यह कहते हुए सुन सकते हैं, “हिंदू माता-पिता अपनी छोटी बेटियों को मुसलमानों के बाद रखते हैं और कहते हैं कि हिंदू धर्म में हम तेरी शादी कर नहीं सकते, क्योंकि दहेज है यहाँ प्रणाली। अगर कोई मुसलमान बिना दहेज के शादी करता है, तो आप किसी मुसलमान से उसकी शादी करवाकर उससे शादी कर लेते हैं। मसूद हाशमी ने यह टिप्पणी इस्लाम धर्म अपनाकर ‘जन्नत’ पाने के दावों पर की।

इसके बाद एंकर रोहित रंजन ने हाशमी को टोक दिया और उन्हें शो छोड़ने के लिए कह दिया। उसने कहा, “तुम उठो और जाओ। ऐसी घटिया सोच और मानसिकता वाले लोगों का कहीं भी स्वागत नहीं है। हिंदुत्व पर सवाल उठाने वाले आप कौन होते हैं? क्या आपके पास इस बात का कोई सबूत है कि आपने अभी क्या कहा? बहस में बैठे बेबुनियाद दावे कर रहे हैं। अप राधी को अप राधी मत कहो और ऊपर से तमाशा करते रहो। आप हिंदुत्व पर सवाल उठा रहे हैं। बेशर्म लोगों से बात करने में मुझे बड़ी दिक्कत होती है और तेरी बे शर्मी भी बहुत है। जब तुम हिंदुत्व को समझोगे, तब मैं तुम्हें फिर से बुलाऊंगा।

हाशमी ने दावा किया कि एंकर गुस्से में थी क्योंकि उसने उसके चेहरे पर ‘सच’ बता दिया था। रोहित रंजन ने उन्हें कार्यक्रम से बाहर कर दिया और अपने दर्शकों को स्पष्ट कर दिया कि हिंदू धर्म का मजाक उड़ाते हुए सनातन धर्म को उनके शो में बर्दा श्त नहीं किया जाएगा।

रंजन ने ट्वीट कर लिखा, “सनातन का मजाक उड़ाओ, हिंदू बेटियों के खिलाफ बोलो और हम चुप रहेंगे? अभी शो से बाहर हो गए। अपनी जीभ पर नियंत्रण रखें। न गलत बोलें और न ही सुनेंगे।

आपको बता दें कि यह शो हाल ही में उत्तर प्रदेश में सामने आए कन्वर्जन रैकेट पर था। मौलाना कलीम सिद्दीकी को उत्तर प्रदेश एटीएस ने 21 सितंबर 2021 को धर्म परि वर्तन मामले में गिर फ्तार किया था। वह 10 दिन के पुलिस रिमांड पर है। एटीएस ने एक बयान में कहा था कि मौलाना सिद्दीकी अपने मदरसों, सामाजिक और धार्मिक संस्थानों की आड़ में देश व्यापी धर्मां तरण रैकेट चला रहा था और इसके लिए उसे विदेशों से फंडिंग भी मिल रही थी. पुलिस ने कहा था कि 64 वर्षीय मौलाना जामिया इमाम वलीउल्लाह ट्रस्ट चलाते हैं, जो कई मदरसों को फंड करता है, जिसके लिए उन्हें भारी विदेशी फंडिंग मिली।

About appearnews

Check Also

प्रियंका चोपड़ा की एक गलती के कारण होना पढ़ा था शर्मिंदा, लोगों ने किया जमकर ट्रोल…

प्रियंका चोपड़ा को आज के समय में किसी की पहचान की जरूरत नहीं है उन्होंने …