Breaking News

क्या देश में फिर लगेगा संपूर्ण लॉकडाउन? जाने मोदीजी का जवाब

देश में कोरोना की बढ़ती रफ्तार को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) ने गुरुवार को राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में कोरोना की विकराल स्थिति और वैक्सीनेशन (Vaccination) पर चर्चा की। बैठक में प्रधानमंत्री ने कहा कि देश पहली लहर की पराकाष्ठा को पार कर चुका है और इस बार का संक्रमण पहले से ज्यादा है।

हम सब के लिए यह चिंता का विषय है। फिर से युद्ध स्तर पर काम करना होगा। जन भागीदारी के साथ-साथ हमारे डॉक्टर स्थिति को संभालने में लगे हुए हैं। एक बार फिर चुनौतीपूर्ण स्थिति बन रही है।

कुछ राज्यों में चुनौती बढ़ रही है। हमें गवर्नैंस पर बल देना होगा। अभी लॉकडाऊन की जरूरत नहीं है। बता दें कि कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए एक बार फिर लॉकडाउन की संभावना बनता दिख रहा है।

अमित शाह ने कहा तत्काल उपाय है जरूरी

उन्होंने कहा कि नाइट कर्फ्यू ही काफी है। दुनिया भर में रात्रि कर्फ्यू को स्वीकार कर लिया है। इसे अब हमें नाईट कर्फ्यू को कोरोना कर्फ्यू के नाम से याद रखना चाहिए। कोरोना से रोकथाम के लिए माइक्रो कंटेनमैंट जोन पर फोकस जरूरी है। इस बार हमारे पास कोरोना से लडऩे के लिए सभी उपाय मौजूद हैं।

अब तो वैक्सीन भी है। उन्होंने कोरोना के बचाव के लिए भी सुझाव भी मांगे। मोदी ने नाराजगी जताते हुए कहा कि पहले के मुकाबले लोग इस बार काफी लापरवाह हो रहे हैं।

बैठक के दौरान गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि कोरोना के मामले दोबारा बढ़ रहे हैं, ऐसे में तत्काल उपाय आवश्यक हो गया है। उन्होंने कहा कि देश में 9 करोड़ से अधिक का टीकाकरण हो चुका है। 45 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों का टीकाकरण शीघ्र पूर्ण किया जाए।

देश में अब तक के सबसे ज्यादा मामले

भारत में एक दिन में कोविड-19 के 1,26,789 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमितों की कुल संख्या 1,29,28,574 हो गई। वहीं, उपचाराधीन मामले भी नौ लाख के पार चले गए हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बृहस्पतिवार की सुबह आठ बजे जारी किए गए

आंकड़ों के अनुसार, देश में वायरस से 685 और मरीजों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,66,862 हो गई। देश में लगातार 29 दिनों से नए मामलों में बढ़ोतरी हो रही है।

बंगाल चुनाव: बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के आज 3 रोड शो, अमित शाह भी करेंगे रैली

इसके साथ ही उपचाराधीन मामले भी बढ़कर 9,10,319 हो गए हैं, जो कुल मामलों का 7.04 प्रतिशत है। देश में 12 फरवरी को सबसे कम 1,35,926 उपचाराधीन मरीज थे, जो उस समय के कुल मामलों का 1.25 प्रतिशत थे।

आंकड़ों के अनुसार, देश में अभी तक कुल 1,18,51,393 लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। हालांकि मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर में गिरावट आई है और वह अब 91.67 प्रतिशत है। वहीं, कोविड-19 से मृत्यु दर 1.29 प्रतिशत है।

About appearnews

Check Also

प्रियंका चोपड़ा की एक गलती के कारण होना पढ़ा था शर्मिंदा, लोगों ने किया जमकर ट्रोल…

प्रियंका चोपड़ा को आज के समय में किसी की पहचान की जरूरत नहीं है उन्होंने …