Breaking News

शपथ लेते ही मुश्किल में फँसी ममता बनर्जी

शपथ लेते ही बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी मुश्किलों में घिर गयी हैं. चुनाव के बाद जारी हिंसा की जांच के लिए केंद्रीय गृह मंत्रालय की चार सदस्यीय एक टीम बंगाल की राजधानी कोलकाता पहुंच गयी है.

यह टीम बंगाल में हिंसा के कारणों की जांच करेगी. साथ ही यह पता लगायेगी कि इसे रोकने के लिए प्रशासन की ओर से क्या कदम उठाये गये. गृह मंत्रालय की इस टीम की अगुवाई एडीशनल सेक्रेटरी लेवल के एक अधिकारी कर रहे हैं.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने 3 दिन में 2 बार राज्य से रिपोर्ट मांगी. ममता बनर्जी की सरकार के अधिकारियों ने एक भी रिपोर्ट नहीं भेजी है. इस बीच, केंद्रीय गृह मंत्रालय की चार सदस्यीय स्पेशल टीम कोलकाता पहुंच गयी है.

यह टीम चुनाव के बाद हिंसा के कारणों की गहन पड़ताल करेगी. टीम यह भी पता करेगी कि आखिर हालात इतनी तेजी से क्यों बिगड़े हैं. इस पर एक समग्र रिपोर्ट केंद्रीय गृह मंत्रालय को यह टीम सौंपेगी.

बंगाल चुनाव 2021 के बाद मतगणना वाले दिन 2 मई से अब तक कम से कम 14 लोगों की हत्या हो चुकी है. इनमें 2 तृणमूल कार्यकर्ता हैं. शेष 12 भाजपा के कार्यकर्ता बताये जा रहे हैं.

बताया जा रहा है कि बुधवार को कूचबिहार और अलीपुरदुआर जिलों में दो शव बरामद हुए, जो तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता बताये जा रहे हैं.

भारतीय जनता पार्टी का आरोप है कि बंगाल में हिंसा के लिए तृणमूल कांग्रेस जिम्मेदार है. राज्य में विपक्षी दलों के खिलाफ सत्तारूढ़ दल तृणमूल हमले करवा रहा है. भाजपा ने कहा है कि तृणमूल कार्यकर्ताओं ने की जगह भारतीय जनता पार्टी के कार्यालयों को जला दिया है.

भाजपा का कहना है कि कोलकाता के कई भाजपा समर्थकों ने जान बचाने के लिए अपना घर छोड़ दिया है. इन लोगों ने दूसरे इलाकों में शरण ले रखी है.

भाजपा से जुड़े सैकड़ों परिवार जान बचाने के लिए भागकर असम चले गये हैं. यह बी कहा गया है कि जादवपुर की भाजपा प्रत्याशी रिंकु नस्कर के घर में घुसकर तृणमूल के गुंडों ने तांडव मचाया. रुपये-गहने भी लूटकर ले गये.

ममता बनर्जी ने कई सीनियर पुलिस ऑफिसर का किया ट्रांसफर, कूचबिहार के एसपी सस्पेंड

इस बीच, ममता बनर्जी ने कहा है कि हार के बावजूद बीजेपी वाले लोगों को परेशान कर रहे हैं. उन्होंने पूरे विश्वास के साथ कहा कि उन्हें मालूम है कि बीजेपी वालों ने केंद्रीय बलों के साथ मिलकर लोगों को परेशान किया.

ममता ने कहा, बावजूद इसके मैं लोगों से आग्रह करूंगी कि आप शांति बनाये रखें. हिंसा के जवाब में प्रतिहिंसा न करें. यदि कोई शिकायत है, तो पुलिस से संपर्क करें.

About appearnews

Check Also

सुप्रीम कोर्ट ने दिया चुनाव से पहले आजम खान को बड़ा झटका

उत्तर प्रदेश की राजनीति के लिए इस वक्त की सबसे बड़ी खबर है. समाजवादी पार्टी …