Breaking News

देश में लग सकता है कंप्लीट लॉकडाउन – प्रधानमंत्री मोदी इस दिन करेंगे ऐलान

देश में कोरोना का संक्रमण तेजी से अपने पैर पसार रहा है. कल चुनाव के जीत की घोषणा में जिसके बाद लोगों ने चुनाव आयोग के नियमों का उल्लंघन करते हुए जश्न मनाएं. इस जश्न के बीच कई लोग को covid पॉजिटिव थे.

देश में पिछले 24 घंटे में साढ़े तीन लाख से ज्यादा कोविड-19 के मामले सामने आए हैं.

दूसरे लहर की चेन तोड़ने के लिए कोविड-19 टास्क फोर्स ने कंप्लीट लॉक डाउन की मांग की है. इन मेंबर्स में एम्स और आईसीएमआर शामिल हैं.

सूत्रों की मानें तो 1 हफ्ते से कंप्लीट लॉकडाउन की मांग उठ रही है. और ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि आज प्रधानमंत्री इसे लेकर बड़ा फैसला कर सकते हैं.

कोरोना की दूसरी लहर के बीच देश भयंकर संकट में घिरा हुआ है। देश में कोरोना वायरस के हर रोज रिकॉर्डतोड़ मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे समय में एक बार फिर से देश में संपूर्ण लॉकडाउन (Complete lockdown in India) की चर्चा तेज हो गई है।

इंटरनेट मीडिया पर इसको लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं। इंटरनेट मीडिया के तमाम प्लेटफॉर्मों में देश में तेजी से बढ़ते कोरोना मामलों को लेकर फिर से संपूर्ण लॉकडाउन लगने की चर्चा जोर पकड़ने लगी है।

इसको लेकर कई संदेश इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। इसमें देश में 3 मई से 20 मई के बीच संपूर्ण लॉकडाउन को लेकर कई तरह के मैसेज वायरल हो रहे हैं। आइए जानते हैं इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहे इन दावों के पीछे की सच्चाई…

देश में 3 से 20 मई के बीच संपूर्ण लॉकडाउन का दावा !

इंटरनेट मीडिया पर एक न्यूज ग्राफिक वायरल हो रही है, जिसमें पीएम मोदी की फोटो के साथ सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि लॉकडाउन की नई गाइडलाइन जारी कर दी गई है।

इसमें 3 मई से 20 मई के तक संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई है। साथ ही यह भी कहा जा रहा है कि देश के सभी राज्यों ने संपूर्ण लॉकडाउन को लेकर सहमति जताई है। 3 मई से 20 मई तक पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई है।

विश्वास न्यूज ने किया फैक्ट चेक

दैनिक जागरण की फैक्ट चेक वेबसाइट विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल पोस्‍ट की जांच की है। इसमें पता चला कि यह पोस्‍ट पूरी तरह से फर्जी है। वायरल न्‍यूज ग्राफिक फेक है।

विश्‍वास न्‍यूज ने वायरल न्‍यूज ग्राफिक की सच्‍चाई जानने के लिए सबसे पहने टीवी9 के एडिटर से संपर्क किया। उनके साथ हमने वायरल पोस्‍ट शेयर की। उन्‍होंने विश्‍वास न्‍यूज को बताया कि यह पूरी तरह फेक है। इसे कई जगह से एडिट कर करके बनाया गया है। चैनल ने ऐसी कोई भी खबर ऑन एयर प्रसारित नहीं की है।

केंद्र सरकार के लिए तथ्यों की जांच करने वाली पीआईबी फैक्ट चेक टीम(PIBFactCheck) ने भी इसका संज्ञान लिया। पीआईबी फैक्ट चेक टीम ने इसकी पूरी पड़ताल अपने ट्वीटर हैंडल पर इन दावों के पीछे की सच्चाई शेयर की है।

पीएम मोदी ने लॉकडाउन को लेकर क्या कहा है ?

20 अप्रैल को देश के नाम संबोधन में पीएम मोदी ने इस बात की ओर साफ इशारा कर दिया कि सरकार कहीं से लॉकडाउन नहीं लगाना चाहती है।

पीएम मोदी ने कहा था कि वर्तमान स्थिति में हमें देश को लॉकडाउन से बचाना है। उन्होंने कहा था कि मैं राज्यों से भी अनुरोध करूंगा कि वो लॉकडाउन को अंतिम विकल्प के रूप में ही इस्तेमाल करें। लॉकडाउन से बचने की भरपूर कोशिश करनी है।

लॉकडाउन न लगाएं, प्रतिबंधात्मक उपाय करें

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा है कि कोरोना का संक्रमण कम करने के लिए वे पूरे राज्य में लाकडाउन न लगाएं। इसके बदले जिलों में और जहां पर दूसरी लहर का असर ज्यादा है, वहां प्रतिबंधात्मक उपाय करें।

About appearnews

Check Also

सुप्रीम कोर्ट ने दिया चुनाव से पहले आजम खान को बड़ा झटका

उत्तर प्रदेश की राजनीति के लिए इस वक्त की सबसे बड़ी खबर है. समाजवादी पार्टी …