Breaking News

इस संगठन ने रिपब्लिक टीवी पर किया मानहानि का केस, कोर्ट ने अर्णब गोस्वामी को तलब किया।

पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया यानी कि पीएफआई के द्वारा रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्णब गोस्वामी और उनके साथी संपादक अनन्या वर्मा के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करने के बाद गुरुवार को दिल्ली की साकेत अदालत ने अर्णब गोस्वामी को तलब किया है! दरअसल पीएफआई के द्वारा दोनों संपादक पर झूठी रिपोर्टिंग करने और उसकी छवि को खराब करने का आ रोप लगाया गया है!

वहीं इस मामले में प्रतिवादी के तौर पर न्यूज़ ब्रॉडकास्ट स्टैंडर्ड एसोसिएशन को भी जोड़ा गया है मिल रही जानकारी के अनुसार पीएफआई के बारे में किसी भी तरह की मानहानि वाली रिपोर्ट करने के मामले में संगठन रिपब्लिक टीवी पर जाने के रूप में ₹100000 और अनिवार्य माह की मांग की गई है वहीं समन का आदेश अपर सिविल जज शीतल चौधरी प्रधान ने जारी किया है फिलहाल तो इस मामले को अगले साल 3 जनवरी तक के लिए स्थगित कर दिया गया है!

उल्लेखनीय है कि जिस रिपोर्ट को लेकर अपनी मानहानि का मामला दर्ज किया है वह हाल ही में असम के दर्रांग में हुई घट ना के मामले से जुड़ा हुआ है! वहीं पीएफआई ने रिपब्लिक टीवी पर अपनी वेबसाइट पर एक लेख प्रकाशित करने का आ रोप लगाया था, जिसका शीर्षक था ‘दर्रांग फाय रिंग: 2 गिरफ्तार पीएफआई लिंक के साथ, विरोध के लिए लाम बंद करने का आ रोप!’ संगठन ने यह भी आ रोप लगाया था कि समाचार चैनल ने लाइव टेलीकास्ट पर ‘असम हिं सा जांच: दो पीएफआई पुरुष गिरफ्तार’ शीर्षक से एक और कार्यक्रम प्रसारित किया था!

वही ऐसे में पीएफआई ने दावा किया है कि हिरासत में लिए गए दो लोग मोहम्मद अस्मत अली और मोहम्मद चंद्र ममूद संगठन के नहीं है! अपनी मानहानि के मुकदमे में संगठन ने आ रोप लगाया है कि उक्त समाचार लेख या प्रसारण में प्रतिभागियों ने लोगों को भड़ काने और वादी के नाम इमेज और सद्भावना के लिए पूर्वाग्रह पैदा करने के इरादे से वादी के खिलाफ झूठे और कुछ आ रोप लगाए हैं! प्रतिवादियों ने वादी की छवि को बद नाम करने के मकसद से जानबूझकर इस प्रकार की अप मान जनक और गलत आ रोप लगाए!

About appearnews

Check Also

सुप्रीम कोर्ट ने दिया चुनाव से पहले आजम खान को बड़ा झटका

उत्तर प्रदेश की राजनीति के लिए इस वक्त की सबसे बड़ी खबर है. समाजवादी पार्टी …